आओ जानें कि साइंस में कौन-कौन सब्जेक्ट होते हैं?

आज का हमारा लेख उन लोगों के लिए है जो ये जानना चाहते है कि 10th के बाद साइंस में कौन – कौन सब्जेक्ट पढ़ने होते है , 10th के बाद साइंस क्यों ले, 11th में साइंस साइड लेने पर आप कौन – कौन विषय ले सकते है। साइंस में कौन-कौन सब्जेक्ट होते हैं से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी आपको हमारे इस पोस्ट पर मिलेगी बस आप हमारे इस लेख अंत तक बने रहे।

वक्त – वक्त की बात है ये वक्त भी गुजर जाएगा आज पढ़ लो जनाब नहीं तो ये वक्त दुबारा लौट के वापस नहीं आयेगा। ये लाइन उन लोगों के लिए है जो लॉक डाउन में पढ़ाई कैसी होती है भूल चुके है। हम आपसे यही कहेंगे की वक्त किसी के लिए न रुकता है न ही वापस लौट कर आता है। आप जितना हो सके अभी पढ़ाई में ध्यान लगाए।

हम आपकी जितनी हो सकती है उतनी मदद करते है। आपको हमारी वेबसाइट jobalerthindi पर पढ़ाई जुड़ी जानकारी और जॉब्स की लेटेस्ट अपडेट मिलती रहती है। बस आप हमारे वेबसाइट पर वक्त – वक्त पर विजिट करते रहे।

साइंस में कौन-कौन सब्जेक्ट होते हैं

साइंस में चुने जाने वाले सब्जेक्ट्स मुस्किल और बेहतर सब्जेक्ट होते है। इसी लिए अगर आपको ये सब्जेक्ट चुनना है तो आपको इसके बारे में जरूर पता होना चाहिए की आपको इन सब्जेक्ट्स के अंतर्गत क्या – क्या पढ़ना होता है। आइये जान लेते है।

  1. फिजिक्स (Physics) : इस सब्जेक्ट के अंतर्गत आपको पदार्थ, गति, ऊर्जा, इत्यादि जैसे टॉपिक्स पढ़ने पड़ते है।
  2. केमिस्ट्री (Chemistry) : इस सब्जेक्ट के अंतर्गत आपको रसायन विज्ञान के बारे में पढ़ने को मिलेगा जैसे कि पानी, केमिकल्स, गैस इत्यादि पदार्थों के बारे में पढ़ना होता है।
  3. बायोलॉजी (Biology) : इस सब्जेक्ट के अंदर आपको जीव , जीवन और मानव शरीर के बारे में पढ़ना होता है।
  4. मैथमेटिक्स (Mathematics) : इस सब्जेक्ट के अंतर्गत गणित सिखाई जाती है। जो आपके जीवन में भी काफी काम आती है गणित।
  5. कंप्यूटर साइंस (Computer Science) : इस सब्जेक्ट के अंतर्गत आपको कंप्यूटर के बारे में पढ़ाया जायेगा। जैसे सोफ्टवेयर, हार्डवेयर और इन्टरनेट इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है।
  6. बायोटेक्नोलॉजी (Biotechnology) : इस सब्जेक्ट के अंतर्गत आपको बायो टेक्नोलॉजी के बारे में पढ़ाया जाता है। जैसे बायोलॉजिकल सिस्टम, लिविंग और्गानिस्म इत्यादि

यहां जानें साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स स्ट्रीम में से किसे चुनें, इनको चुनने से क्या-क्या संभावनाएं हैं।

साइंस स्ट्रीम के सब्जेक्ट्स और करियर

साइंस स्ट्रीम के सब्जेक्ट्स जो बच्चे इंजीनियरिंग करना चाहते है। उन स्टूडेंट्स को फिजिक्स , केमिस्ट्री और मैथ्स लेना जरूरी होता है। ऑप्शनल सब्जेक्ट्स में कंप्यूटर साइंस , इकोनॉमिक्स , फिजिक्स साइंस जैसे सब्जेक्ट्स ले सकते है। जो स्कोरिंग होते है। जो स्टूडेंट्स साइंस सब्जेक्ट्स में स्पेशलाइजेसन करने के लिए बीएससी (ओनर्स) करना चाहते है, उनके इंग्लिश में 50 प्रतिशत मार्क्स जरूरी होते हैं।

बीएससी (पास) के लिय 40 प्रतिशत मार्क्स जरूरी होते हैं। अगर आप आगे चलकर साइंस नहीं लेना चाहते हैं तो आप यूनिवर्सिटी में इकोनॉमिक्स (ओनर्स) कोर्स भी कर सकते हैं। इंग्लिश, मैथ्स और कंप्यूटर साइंस के कॉम्बिनेशन के कारण आप ग्रेजुएशन में कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई भी कर सकते हैं।

फिजिक्स , केमिस्ट्री , मैथ और बायोलॉजी साइंस स्ट्रीम में आते है। मेडिकल में जाने के इच्छुक स्टूडेंट्स मैथ की जगह पर बायोलॉजी सब्जेक्ट को लेना होता है।इनके साथ आपको इंग्लिश लेना भी जरूरी होता है। जिससे आपको ग्रेजुएशन करने में ज्यादा परेशानी नहीं होती है।

सुझाव :- अगर आपको इंजिनियर या डॉक्टर बनना है तो आप इंग्लिश मध्यम से ही पढ़े जिससे आपको भविष्य में परेशानी नहीं होगी।

दोस्तों उम्मीद करता हु कि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी आपके काम योग्य हो। अगर आपको हमसे और कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है हम आपकी पूरी मदद करने की कोशिस करेंगे। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के बीच सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि आपके दोस्त भी 10th के बाद 11th में साइंस में कौन – कौन से सब्जेक्ट होते है जान सके।

Leave a Comment