ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध : हम इस आर्टिकल में ऑनलाइन शिक्षा से जुड़ी सभी बातें करेंगे।

नमस्कार दोस्तों आप सभी का हमारे ब्लॉग jobalerthindi.com में बहुत – बहुत स्वागत है। आज का हमारा आर्टिकल ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध (Online Shiksha Par Nibandh) है।

अगर आपको ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध लिखना या पढ़ना है और ऑनलाइन शिक्षा से जुड़ी सभी जानकारी के बारे में जानना हैं तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पढ़ रहे है। आज हम इस आर्टिकल में ऑनलाइन शिक्षा से जुड़ी सभी बातें करेंगे।

ऑनलाइन शिक्षा, शिक्षा का एक ऐसा माध्यम हैं जिससे घर बैठे शिक्षक इन्टरनेट के माध्यम से देश के किसी कोने या प्रान्त से बच्चों को पढ़ा सकते है। इसमें शिक्षक और विद्यार्थी अपने सहूलियत के अनुसार वक्त का चुनाव कर ऑनलाइन जुड़ जाते है। शिक्षक Skype, whatsapp और zoom विडियो कॉल के माध्यम से बच्चों को आसानी से पढ़ा सकते हैं।

ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध (Essay on Online Education)

ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध
Online Shiksha Par Nibandh

हमारी मानव जाति ने विज्ञान की मदद से जीवन को सरल कर दिया है। आज कल जो कुछ सीखना हो तो ऑनलाइन और कुछ न पता हो तो ऑनलाइन, अगर कोई कम करने में कठिनाई हो तो सर्च करो सभी मुसीबतों का हल मिल जाता है ऑनलाइन।

आज कल पढ़ाई भी ऑनलाइन होना शुरू हो गई है। ऑनलाइन शिक्षा तो पहले भी प्राप्त कर रहे थे लोग लेकिन 2020 में आई महामारी के कारण लोगों के कॉलेज स्कूल बंद करने पढ़े, सभी देशों को लाकडाउन लगाना पढ़ गया जिससे लोगों को शिक्षा प्राप्त करने में दिक्कत न हो इस लिए सभी अध्यापकों ने ऑनलाइन शिक्षा देना शुरू कर दिया जिससे आज कल सभी के बच्चे घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त कर रहें है।

ऑनलाइन शिक्षा हमारे इस लॉकडाउन में वरदान हैं। जिसका लाभ हम और हमारे घर के वों लोग जो पढ़ना चाहते है घर बैठे उठा पता है। ऑनलाइन शिक्षा हम दो प्रकार से प्राप्त कर सकते है।

पहला तरीका फ्री (Free) में ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करना

फ्री में ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने का सबसे अच्छा प्लेटफ़ॉर्म YouTube हैं. YouTube पर आप बहुत सारे शिक्षा से जुड़े चैनल है जो आपको आपके जरूरत के हिसाब से पढ़ाते है। जहाँ आप अपने विषय से जुड़ी क्लासें देख सकते है। इसके लिए आपको कोई चर्चा नहीं करना पढ़ता है. YouTube से आज कल दुनिया में काफ़ी लोग पढ़ और सीख रहें है ये दुनिया का सबसे अच्छा प्लेटफ़ॉर्म माना जाता है चाहें वों मनोरंजन के क्षेत्र में हों या शिक्षा के।

दूसरा तरीका पेड (Paid) ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करना :-

पेड ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने के दो तरीके हैं।

  1. मोबाइल App से ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करना :-

जब आप कोई ऐसे मोबाइल app जो शिक्षा के लिए होते है से शिक्षा प्राप्त करते है तो आपको सबसे पहले उसके लिए फीस देनी पड़ती है ये फीस आपके कोर्स के हिसाब से और आप जिस app से पढ़ रहे है उस पर निर्भर करती है। Unacademy और Byju’s ये दोनों आज के सबसे अच्छे ऑनलाइन पैड शिक्षा देने के प्लेटफार्म है। जहाँ आप को सबसे अच्छे अध्यापक मिलेंगे जो आपकी प्रति दिन क्लास लेंगे. और अगर आपको किसी प्रश्न या कुछ समझने में प्रॉब्लम है तो यहाँ इस प्लेटफ़ॉर्म पर आपकी प्रॉब्लम को अच्छे से सोल्व करते है.

  1. विडियो कॉल से अपने स्कूल के अध्यापक से ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करना :-

इस तरीके में हम Zoom, Skype और whatsapp जैसे विडियो कॉल वाले App से अपने स्कूल के अध्यापक से ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करते हैं। इसमें आप अपने स्कूल से भी जुड़े रहते है और घर बैठें शिक्षा भी प्राप्त कर लेते हैं। इसके लिए आपको अपने स्कूल के अध्यापक को फीस देनी पड़ती है।

अगर आपको ऑनलाइन शिक्षा पर किसी स्कूल की परीक्षा में निबंध (Essay) लिखना है जो की 400 वर्ड के आस पास हो तो आप हमारे नीचे दिए गए निबंध जैसा लिख सकते हैं।

अब विद्यालय के निर्देशों के अनुसार शिक्षक बच्चों को घर बैठें ऑनलाइन पढ़ा रहें हैं। ताकि बच्चों की स्कूली शिक्षा में बाधा न पड़े।

ऑनलाइन शिक्षा के फ़ायदे
  1. स्कूल के अध्यापक के साथ अधिक नियमित संपर्क :-

जैसा कि हमारे छात्र ऑनलाइन skype और Google क्लास रूम के माध्यम से अपने अध्यापक के संपर्क में आते है। संचार की प्रगति के कारण छात्रों को लाभ होता है , क्यों कि ट्यूशन केवल सप्ताहिक एक घंटे के सत्र की तुलना में निरंतर संवाद का हो सकता है।

  1. बेहतर फ्लेक्सिबिलिटी :-

ऑनलाइन ट्यूशन के समय मिनटों में परिवर्तन आ सकता है। शिक्षक जब चाहें क्लास रख सकता है और स्थगित भी कर सकता है। इसमें यात्रा नहीं करनी पड़ती है। इसलिए काफी समय की बचत होती है।

ऑनलाइन शिक्षा के नुकसान
  1. बच्चे बिगड़ जातें है :-

ऑनलाइन शिक्षा से कुछ बच्चें बिगड़ जातें है. ऑफलाइन से कम समय के लिए शिक्षा प्रदान करतें हैं. सिर्फ एक तरफ अध्यापक बच्चों को पढ़ता है उसमें बच्चा ज्यादा समय के लिए क्लास वर्क नहीं कर पाता हैं ऑफलाइन अध्यापक बच्चों को नैतिक शिक्षा प्रदान करता हैं। ऐसा ऑनलाइन में नहीं हो पाता हैं।

  1. अच्छी इन्टरनेट का अभाव :-

खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के पास तीव्र गति वालें इन्टरनेट की सुविधा नहीं होतीं हैं. इसलिये वहां ऑनलाइन शिक्षा अभी भी उपलब्ध नहीं हैं।

  1. शिक्षा के लिए पर्याप्त योजना का अभाव :-

ऑफलाइन की तरह ऑनलाइन शिक्षा में अनुशासन के अनुसार नहीं हो पाती हैं। बच्चे गंभीरता से पढ़ाई नहीं कर पाते हैं।

  1. प्रतिस्पर्धा का माहौल उत्पन्न न होना :-

ऑनलाइन शिक्षा में बच्चों के लिए ऑफलाइन जैसी पढ़ाई वाला माहौल नहीं बन पाता है। जिससे बच्चे ऑनलाइन शिक्षा से बोर होने लगते हैं। ऑफलाइन में जब बच्चे एक साथ बैठ कर पढ़ते हैं तो ज्यादा पढ़ाई में रुची रखते हैं.

निष्कर्ष

ऑनलाइन शिक्षा के सभी तरह के पहलू हैं लेकिन यह कहना गलत न होगा कि लॉक डाउन में ऑनलाइन शिक्षा ने बच्चों, शिक्षकों और शिक्षा संगठनों की काफी मदद की हैं और शिक्षा के आदान प्रदान को रुकने नहीं दिया है।

दोस्तों अगर आपको ये निबंध पसंद आया हों तो इसे अपने दोस्तों को जरुर Share करे जिससे आपके दोस्त भी ऑनलाइन शिक्षा के बारे में पढ़ सके और अपनी परीक्षा की तैयारी कर सकें। अगर आपको और कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Q1 : ऑनलाइन शिक्षा कैसे दी जाती है?

Ans : ऑनलाइन शिक्षा इंटरनेट के द्वारा घर पर बैठकर अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट या स्मार्टफोन के उपयोग करके जाती है।

Q2 : क्या ऑनलाइन शिक्षा अच्छी है?

Ans : ऑनलाइन अध्ययन आपको महत्वपूर्ण समय प्रबंधन कौशल सिखाता है, जो एक अच्छा कार्य-अध्ययन संतुलन खोजना आसान बनाता है।

Q3 : ऑनलाइन शिक्षा के क्या फायदे हैं?

Ans : ऑनलाइन सीखने का एक अन्य लाभ वित्तीय लागत कम करना है। ऑनलाइन शिक्षा शारीरिक शिक्षा की तुलना में कहीं अधिक किफायती है।

Updated: November 30, 2021 — 5:26 pm

The Author

Rima Singh

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम रीमा सिंह है और मैं jobalerthindi.com की कंटेंट राइटर हूँ। यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको महत्वपूर्ण शैक्षिक सामग्री, सभी विभाग की सरकारी नौकरी व इससे संबंधित अन्य प्रकार की जानकारी हिंदी में मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.